मकर संक्रांति स्नान पर्व के अवसर पर देश के कोने-कोने से आए लगभग 7 लाख 11 हजार श्रद्धालुओं ने आरती के समय तक हरकी पैड़ी सहित कुंभ क्षेत्र के अन्य समस्त घाटों पर डुबकी लगाकर पुण्य कमाया। इस बीच भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए ‘तीन डुबकी, एक स्नान’ का मंत्र मेला प्रशासन ने अपनाया। मकर संक्रांति स्नान को लेकर बुधवार की देर रात 12 बजे के बाद से ही हरकी पैड़ी एवं अन्य घाटों पर स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया था। यातायात एवं पार्किंग ड्यूटी पर तैनात पुलिस ने वाहनों को निर्धारित चमगादड़ टापू पार्किंग तक पहुंचाया।